बत्तियाँ बुझा दो - Battiyan Bujhaado (Motichoor Chaknachoor)

Battiyan Bujhaado Song Lyrics

Battiyan Bujhaado Song Lyrics - Motichoor Chaknachoor. ज्योतिका तंग्री, रामजी गुलाटी द्वारा गाया गया सुंदर गीत। रामजी गुलाटी द्वारा संगीत और कुमारों द्वारा गीत। कलाकार नवाजुद्दीन सिद्दीकी, अथिया शेट्टी।


Battiyan Bujhaado – Motichoor Chaknachoor Song Lyrics in Hindi Font

गीत: बत्तियाँ बुझा दो
फ़िल्म: मोतीचूर चकनाचूर
गायक: ज्योतिका टंगरी, रामजी गुलाटी
संगीत: रामजी गुलाटी
गीतकार: कुमार
कलाकार: नवाजुद्दीन सिद्दीकी, अथिया शेट्टी
लेबल: ज़ी म्यूज़िक



बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो

बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो

आँखों से धीरे धीरे
करें शुरुआत हम
फिर इन लबों पे
जगालें जज़्बात हम

आँखों से धीरे धीरे
करें शुरुआत हम
फिर इन लबों पे
जग लें जज़्बात हम

दूरियों से कह दो की पास ना आएं
एक दूसरे में गुज़रें सारी रात हम

बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो

बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो

जितना नाश भरा है मेरी अंगड़ाई में
आज बरसाऊं तुझपे आज तन्हाई में
बाहें कहती हैं बाहों से लिपट के
लम्हे बिता लूं ख़यालों की रजाई में

बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो

बत्तियाँ बुझादो
थोड़ी सी पिलादो
अंधेरे में जो होगा
सुबह उसको भुलादो



Battiyan Bujhaado – Motichoor Chaknachoor Video Song